अनुच्छेद 370 पर सभी दलों की राय लेना जरूरी: बादल

शपथ ग्रहण से पहले कैबिनेट को अंतिम रूप देने में जुटे मोदी

डेढ़ करोड़ रुपये में बिकी टीपू सुल्तान की राम नाम वाली अंगूठी

जमकर गरजे मोदी, राहुल-सोनिया के साथ मुलायम पर भी वार

Wanted press reporters for Live24News.com.in and Manzil National Weekly newspaper, Contact - Pawan Kumar Dhawan, Mb.: 9914159079, Email: editor@live24news.com Also contact for Advertisement on website.

12
Jun

ਕਮਾਂਡਰ ਇਨ ਚੀਫ਼ ਦੀ ਨੌਸੈਨਾ ਮੁੱਖੀ ਨਾਲ ਮੁਲਾਕਾਤ

ਨਵੀਂ ਦਿੱਲੀ,   ਜੂਨ, 2014
ਨੌਸੈਨਾ ਦੀ ਪੱਛਮੀ ਕਮਾਨ ਦ ਕਮਾਂਡਰ ਇਨ ਚੀਫ਼ ਵਾਈਸ ਐਡਮਿਰਲ ਅਨਿਲ ਚੋਪੜਾ ਅਤ ਅੰਡਮਾਨ ਤ ਨਿਕੋਬਾਰ ਕਮਾਨ ਦ ਕਮਾਂਡਰ ਇਨ ਚੀਫ਼ ਵਾਈਸ ਐਡਮਿਰਲ ਪੀ.ਕ ਚੈਕਟਰਜੀ ਨ ਨੌਸੈਨਾ ਮੁੱਖੀ ਐਡਮਿਰਲ ਆਰ.ਕ. ਧੋਵਾਨ ਨਾਲ ਉਨਾਂ• ਦ ਦਫਤਰ ਵਿੱਚ ਮੁਲਾਕਾਤ ਕੀਤੀ  ਇਹ ਇਨਾਂ• ਸੀਨੀਅਰ ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ: ਦੀ ਪਹਿਲੀ ਮੁਲਾਕਾਤ ਸੀ। ਇਸ ਲਈ ਮੁਲਾਕਾਤ ਤੋਂ ਪਹਿਲਾਂ ਐਡਮਿਰਲ ਆਰ.ਕ. ਧੋਵਾਨ ਨ ਸਾਉਥ ਬਲਾਕ ਸਥਿਤ ਆਪਣ ਦਫਤਰ ਵਿੱਚ ਉਨਾਂ• ਦਾ ਸਵਾਗਤ ਕੀਤਾ। ਇਨਾਂ• ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ ਨੂੰ ਗਾਰਡ ਆਫ ਆਨਰ ਵੀ ਪਸ਼ ਕੀਤਾ ਗਿਆ। ਮੁਲਾਕਾਤ ਦੌਰਾਨ ਸੰਚਾਲਨ ਅਤ ਪ੍ਰਸ਼ਾਸਨ ਨਾਲ ਜੁੜ ਵੱਖ ਵੱਖ ਮੁੱਦਿਆਂ ਉਤ ਵਿਚਾਰ ਵਟਾਂਦਰਾ ਕੀਤਾ ਗਿਆ। ਵਾਈਸ ਐਡਮਿਰਲ ਅਨਿਲ ਚੋਪੜਾ 6 ਜੂਨ, 2014 ਲੂੰ ਪੱਛਮੀ ਕਮਾਨ ਅਤ ਵਾਈਸ ਐਡਮਿਰਲ ਪੀ.ਕ. ਚੈਟਰਜੀ ਨ 1ਜੂਨ, 2014 ਨੂੰ ਅੰਡਮਾਨ ਤ ਨਿਕੋਬਾਰ ਕਮਾਨ ਦੀ ਬਾਗਡੋਰ ਸੰਭਾਲੀ ਹੈ।

12
Jun

ਕਂਦਰੀ ਹਥਿਆਰਬੰਦ ਪੁਲਿਸ ਬਲ (ਸਹਾਇਕ ਕਮਾਂਡੈਂਟ) ਪ੍ਰੀਖਿਆ 2013

ਨਵੀਂ ਦਿੱਲੀ, (live24news.in)
ਸੰਘ ਲੋਕ ਸਵਾ ਕਮਿਸ਼ਨ ਵੱਲੋਂ ਆਯੋਜਿਤ ਕਂਦਰੀ ਹਥਿਆਰਬੰਦ ਪੁਲਿਸ ਬਲ (ਸਹਾਇਕ ਕਮਾਂਡੈਂਟ) ਪ੍ਰੀਖਿਆ 2013 ਇੰਟਰਵਿਊ ਅਤ ਵਿਅਕਤੀਤਵ ਪ੍ਰੀਖਣ ਦਾ ਆਯੋਜਨ 16 ਜੂਨ ਤੋਂ 4 ਜੁਲਾਈ ਤੱਕ ਨਵੀਂ ਦਿੱਲੀ ਵਿੱਚ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦ ਦਫਤਰ ਵਿੱਚ ਹੋਵਗਾ। ਜ ਕਿਸ ਉਮੀਦਵਾਰ ਨੂੰ ਬਿਨੈ ਪੱਤਰ ਪ੍ਰਾਪਤ ਨਹੀਂ ਹੋਇਆ ਤਾਂ ਉਹ ਟੈਲੀਫੋਨ ਨੰਬਰ 011 23386281 ਉਤ ਸੰਪਰਕ ਕਰ ਸਕਦਾ ਹੈ ਅਤ ਇਸ ਦ ਲਈ ਫੈਕਸ ਨੰਬਰ 011-23387310 ਉਤ ਵੀ ਸੁਨਹਾ ਵੀ ਭਜ ਸਕਦਾ ਹੈ। ਉਮੀਦਵਾਰ ਕਿਸ ਵੀ ਕੰਮਕਾਜ ਵਾਲ ਦਿਨ ਸਵਰ 10 ਵਜ ਤੋਂ ਸ਼ਾਮ 5ਵਜ ਤੱਕ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦ ਗਟ ਸੀ ਉਤ ਸਥਿਤ ਸੁਵਿਧਾ ਸੈਂਟਰ ਵਿੱਚ ਸਵੈ ਵੀ ਆ ਸਕਦਾ ਹੈ ਅਤ ਟੈਲੀਫੋਨ ਨੰਬਰ ੦੧੧-੨੩੩੮੧੧੨੫, ੦੧੧-੨੩੩੮੫੨੭੧/੦੧੧-੨੩੦੯੮੫੪੩ ਉਤ ਸੰਪਰਕ ਕਰ ਸਕਦਾ ਹੈ। ਹੋਰ ਵਧਰ ਜਾਣਕਾਰੀ ਕਮਿਸ਼ਨ ਦੀ ਵੈਬਸਾਈਟ http://www.upsc.gov.in  ਪ੍ਰਾਪਤ ਕਰ ਸਕਦਾ ਹੈ।  

30
May

दिल्ली-एनसीआर में तेज बारिश और आंधी से एक की मौत

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार शाम आई तेज आंधी और बारिश ने जहां मेट्रो के पहिए रोक दिए वहीं इससे कई वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। तेज आंधी की बदौलत कई जगहों पर पेड़ गिर गए, जिससे कुछ गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा है। वहीं लोनी क्षेत्र में एक होर्डिग के गिर जाने से एक व्यक्ति की मौत हो गई।

दिल्ली और एनसीआर में आई तेज आंधी और बारिश से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। इसकी वजह से शाम पांच बजे ही चारों तरफ अंधेरा छा गया। आफिस से निकलने का वक्त होने के चलते सड़कों पर वाहनों की आवाजाही काफी थी। तेज आंधी और बारिश ने इस पर रोक लगा दी। वहीं इसकी बदौलत मेट्रो के पहिए भी थम गए। कई जगहों पर मेट्रो रोक एहतियातन रोक दी गई, जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस दौरान कई जगहों पर ओले गिरने की भी खबर है। दिल्ली हवाई अड्डे पर भी इसका असर दिखाई दिया। कम से कम 12 उड़ानें रद्द कर दी गईं।

30
May

अनुच्छेद 370 पर सभी दलों की राय लेना जरूरी: बादल

बठिंडा। पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने जम्मू-कश्मीर में लागू अनुच्छेद 370 पर कोई भी फैसला करने से पहले सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से चर्चा करने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि यह बेहद संवेदनशील मुद्दा है लिहाजा इस पर कोई भी कदम बढ़ाने से पहले सभी दलों को विश्वास में लेना बेहद जरूरी है। उन्होंने सरकार को इस मुद्दे पर किसी भी तरह की जल्दबाजी न करने की भी सलाह दी है।

बादल ने उम्मीद जताई कि अनुच्छेद 370 के मुद्दे का कोई हल निकालने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सभी दलों से विचार विमर्श करके ही कोई फैसला लेंगे। उन्होंने इस मौके पर मोदी के अनुभव की भी जमकर तारीफ की। पंजाब के सीएम ने मोदी की कालेधन को वापस लाने के लिए बनाई गई एसआईटी के लिए भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा देश के प्रधानमंत्री इस मुद्दे को लेकर बेहद संजीदा हैं।

उन्होंने उम्मीद जताई कि मोदी देश की सीमाओं की रक्षा के लिए और अधिक उपयोगी कदम जरूर उठाएंगे। इस दौरान उन्होंने कहा कि बीएसएफ केंद्र के सीधे नियंत्रण में हैं। इस लिहाज से भी वह देश की सीमाओं पर और अधिक चौकसी बढ़ाने की पुरजोर कोशिश करेंगे, जिससे सीमा पार से हो रही तस्करी को रोका जा सकेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमा पार से हो रही तस्करी को रोकने के लिए राज्य सरकार आईजी के नेतृत्व में एक स्पेशल सेल का गठन किया है। इससे तस्करी में काफी कुछ कमी आने की संभावना 

28
May

दो लड़कियों का कत्ल, शव पेड़ से लटकाए

यूपी के बदायूं जिले में एक दिल दहला देने वाली एक  घटना सामने आई है।

दो चचेरी बहनों को कथित रूप से सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दरिंदों ने दोनों लड़कियों की लाश पेड़ से लटका दी है।

घटना से आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर पूरे थाने को निलम्बित करने और मुख्यमंत्री को मौके पर बुलाने की मांग करते हुए रास्ता जाम किया।हत्या और गैंगरेप के बाद दो समुदायों में तनाव

एजेंसी के अनुसार, पुलिस अधीक्षक मानसिंह चौहान ने बताया कि उसहैत थाना क्षेत्र के कटरा गांव में 14 तथा 15 वर्षीय दो लड़कियां कल रात शौच करने के लिए गांव के बाहर गयी थीं
 दोनों चचेरी बहनों के घर न लौटने पर परिजनों ने रातभर उनकी तलाश की। आज सुबह उनके शव एक बाग में एक पेड़ से लटके मिले।

उन्होंने बताया कि इस मामले में कटरा चौकी में तैनात सर्वेश यादव समेत चार लोगों पर बलात्कार के बाद हत्या का आरोप लगाया गया है।

घटना के बाद से चारों आरोपी लापता हैं। चौहान ने बताया कि ग्रामीणों ने उसहैत-लिलवां मार्ग पर रास्ता जाम कर दिया।

उनकी मांग है कि उसहैत थाने के सभी पुलिसकर्मियों को निलम्बित किया जाए और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद मौके पर आएं, तभी शवों को ले जाने दिया जाएगा।
 
28
May

अनुच्छेद 370 विवाद पर उमर को संघ का करारा जवाब

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में राज्यमंत्री का पदभार संभालने के बाद डॉ. जितेंद्र सिंह के अनुच्छेद 370 पर दिए बयान पर विवाद बढ़ गया है। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की टिप्पणी पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने कहा है कि अनुच्छेद 370 रहे न रहे, जम्मू-कश्मीर हमेशा से भारत का अभिन्न रहा है और रहेगा। उमर ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा था कि या तो अनुच्छेद 370 मौजूद रहेगा या जम्मू-कश्मीर भारत का अंग नहीं रहेगा।

विवाद की शुरुआत उधमपुर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर आए जितेंद्र सिंह के बयान से हुई। उन्होंने कहा था कि अनुच्छेद-370 के कारण राज्य को भारी नुकसान हो रहा है और इसे रद करने का विरोध केवल राजनीतिक कारणों से हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस अनुच्छेद को निरस्त करने के लिए बहस शुरू की जाएगी, ताकि युवाओं को इसके नुकसान के बारे जागरूक किया जा सके। राज्य की छह सीटों में तीन पर भारी बहुमत के साथ भाजपा की जीत को अनुच्छेद 370 जनसमर्थन से जोड़ते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए वादी को मुख्यधारा से जोड़ना जरूरी है। हालांकि बाद में अपने बयान से पीछे हटते हुए सिंह ने कहा कि उनकी बातों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।

मंत्री के बयान पर मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कड़ा ऐतराज जताया। उमर ने ट्वीट किया, 'जम्मू-कश्मीर और शेष भारत के बीच एकमात्र संपर्क अनुच्छेद 370 है। इसे हटाने की बात करना न सिर्फ कम जानकारी का परिचायक है, बल्कि गैरजिम्मेदाराना भी है। पीएमओ में नए मंत्री कहते हैं कि धारा 370 को हटाने की प्रक्रिया पर विचार-विमर्श शुरू हो गया है। वाह! बहुत तेज शुरुआत है। पता नहीं कौन बात कर रहा है। उमर ने तो यहां तक कहा है कि अनुच्छेद 370 को हटाने का असर कश्मीर के भारत से अलग हो जाने तक भी हो सकता है। उन्होंने कहा, 'मेरे इस ट्वीट को सेव कर लीजिए। लंबे समय बाद जब मोदी सरकार की यादें धुंधली हो जाएंगी, तब या तो जम्मू-कश्मीर भारत में नहीं होगा या अनुच्छेद 370 रहेगा। वहीं दूसरी ओर महबूबा ने प्रधानमंत्री मोदी से हस्तक्षेप की मांग की।

आरएसएस के प्रवक्ता राम माधव ने उमर के ट्वीट का जवाब बुधवार की सुबह एक ट्वीट के जरिए ही दिया। उन्होंने लिखा है, 'जम्मू-कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा? क्या उमर इसे अपनी पैतृक संपत्ति समझते हैं? अनुच्छेद 370 रहे न रहे, जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग था और हमेशा रहेगा।

जानिए, क्या है अनुच्छेद 370

पढ़ें : अनुच्छेद 370 पर कश्मीर में सियासत तेज

28
May

मंत्रियों को नमो की नसीहत-न करें फिजूलखर्ची

नई दिल्ली। कामकाज संभालने के पहले ही दिन कैबिनेट मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों को फिजूलखर्ची न करने की नसीहत दे दी। सूत्रों के अनुसार मोदी ने अपने मंत्रियों से कहा कि वे अपने संबंधियों को पीए अथवा पीएस भी न रखें। उन्होंने कहा कि मंत्रियों को अने बंगले और ऑफिस के रख-रखाव पर भी जरूरत से ज्यादा खर्च नहीं करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने पीएमओ को निर्देश दिया कि वह सभी सरकारी विभागों के अधिकारियों को सलाह दे कि वे जनता की शिकायतों को सुनने के लिए समय का निर्धारण करे।

इसी बीच प्रधानमंत्री ने थल सेनाध्यक्ष जनरल बिक्रम सिंह से बुधवार को मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री ने थल सेनाध्यक्ष से तकरीबन आधे घंटे तक बातच की।

28
May

तेंदुलकर, शाहरुख वेब पर सर्वाधिक लोकप्रिय हस्तियों में शुमार

न्यूयॉर्क। भारतीय क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर और बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान को टाइम पत्रिका ने वेबसाइट पर सौ सर्वाधिक लोकप्रिय हस्तियों में शुमार किया है।

सूची में शीर्ष पर पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज बुश हैं जिन्होंने 65.6 प्राप्त किया है। उनके उत्तराधिकारी राष्ट्रपति बराक ओबामा 45.3 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं। तेंदुलकर को 23.98 अंक मिले हैं और उन्हें 68वें स्थान पर रखा गया है जबकि शाहरुख को सूची में आखिरी स्थान से ठीक पहले यानी 99वां स्थान प्राप्त हुआ है। उन्हें महज 22.07 अंक प्राप्त हुए हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 22.08 अंकों के साथ शाहरुख से एक स्थान ऊपर रखा गया है। सूची में पॉप सिंगर मैडोना को तीसरा स्थान हासिल हुआ है जबकि इनके बाद बियॉन्से [चौथा], पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन [11], रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन [27], सर्बियाई टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच [61], पोप फ्रांसिस [70], फार्मूला वन ड्राइवर माइकल शुमाकर [77] और टॉक शो होस्ट ओपेरा विनफ्रे [95] को भी शामिल किया गया है।

टाइम पत्रिका की सालाना दुनिया की सर्वाधिक सौ प्रभावशाली हस्तियों की सूची के आंकड़े इकट्ठा करने के साथ ही इसे भी तैयार किया गया। वैश्विक नेताओं और प्रसिद्ध हस्तियों की ऑनलाइन और उनके विकिपीडिया पेजों द्वारा इकट्ठा किए गए आंकड़ों के आधार पर सूची बनाई गई है।

23
May

डेढ़ करोड़ रुपये में बिकी टीपू सुल्तान की राम नाम वाली अंगूठी

लंदन। 18वीं सदी में मैसूर के शासक रहे टीपू सुल्तान से संबंधित एक अद्वितीय अंगूठी 1.45 लाख पौंड [करीब 1.43 करोड़ रुपये] में बिकी है। इसकी बोली नीलामी में अनुमानित कीमत से दस गुना अधिक लगाई गई।

बीबीसी न्यूज के अनुसार, इस रत्‍‌नजड़ित अंगूठी पर देवनागरी लिपि में हिंदू भगवान राम का नाम खुदा हुआ है। बताया जाता है कि ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना के खिलाफ 1799 में श्रीरंगापत्तनम युद्ध की समाप्ति पर टीपू सुल्तान के मृत शरीर से कथित तौर पर अंगूठी निकाली गई थी।

नीलामी घर क्रिस्टी ने बताया कि अंगूठी का वजन 41.2 ग्राम है। यह एक अज्ञात बोलीकर्ता को बेची गई है। इसकी नीलामी मध्य लंदन में हेरिटेज समूहों की आलोचना के बीच की गई है।

नीलामी में उल्लेख किया गया कि आश्चर्य की बात है कि एक अंगूठी जिस पर हिंदू देवता का नाम अंकित है उसे एक महान मुस्लिम योद्धा पहनता था। इस नीलामी का भारत के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडीज के प्रोफेसर एस सेट्टर और टीपू सुल्तान यूनाइटेड फ्रंट ने विरोध किया था और सरकार से अंगूठी को बिकने से बचाने की मांग की गई थी।

23
May

शपथ ग्रहण से पहले कैबिनेट को अंतिम रूप देने में जुटे मोदी

नई दिल्ली। देश के मनोनीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शपथ ग्रहण से पहले अपनी केबिनेट को अंतिम रूप देने में जी-जान से जुटे हैं। इसके लिए वह शनिवार को गुजरात भवन में अपने पार्टी सहयोगियों से बैठक कर रहे हैं। इस बैठक में पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह के साथ, पार्टी महासचिव अमित शाह और अरुण जेटली भी शमिल हैं। मोदी 26 मई को शपथ लेंगे।

मोदी पहले ही अपने मंत्रिमंडल को छोटा रखने की बात कर चुके हैं। चुनाव प्रचार के दौरान भी उन्होंने मिनीमम गवर्नमेंट और मैक्सिमम गवर्ननेंस की बात कही थी।

19
May

तैयार हो रहा है 'अच्छे दिन लाने का प्लान'

राजनाथ सिंह ने लखनऊ सभी आकलनों को ध्वस्त करते हुए लखनऊ के विकास का मास्टर प्लान तैयार करने की जिम्मेदारी एक आईएएस अफसर को दी है।

शहर के विकास के लिए पूर्व आईएएस अफसर दिवाकर त्रिपाठी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। 15 अगस्त तक यह कमेटी डवलपमेंट प्लान बना कर सांसद को सौंप देगी।राजनाथ ने दी जिम्मेदारी

त्रिपाठी ने राजधानी के विकास को लेकर बहुत काम किया है। अटल बिहारी वाजपेयी जब देश के प्रधानमंत्री थे तब त्रिपाठी एलडीए उपाध्यक्ष हुआ करते थे।

उनके समय में कई विकास योजनाओं ने अमली जामा पहनाया था। राजनाथ सिंह के मीडिया प्रभारी नरेंद्र सिंह राणा ने बताया कि संसदीय क्षेत्र के समग्र विकास का खाका लखनऊ विकास प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष दिवाकर त्रिपाठी बनाएंगे।

19
May

राजेश, नूपुर तलवार की जमानत याचिका खारिज

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आरुषि-हेमराज हत्याकांड के मामले में आज मुख्य आरोपी तलवार दंपती डॉ. राजेश तलवार तथा नूपुर तलवार की जमानत याचिका खारिज कर दी। इनकी जमानत याचिका पर नौ मई को फैसला सुरक्षित किया गया था जिसका आज आदेश न्यायमूर्ति राकेश तिवारी तथा न्यायमूर्ति एके अग्रवाल की खंडपीठ ने दिया।

नोएडा के चर्चित आरुषी हेमराज हत्या केस के मुख्य आरोपी डा. राजेश तलवार व नूपुर तलवार की जमानत अर्जी पर आदेश न्यायमूर्ति राकेश तिवारी तथा न्यायमूर्ति एके अग्रवाल की खंडपीठ ने तलवार दंपत्ति की सजा के खिलाफ अपील में दाखिल जमानत अर्जी की सुनवाई करने के बाद दिया था। तलवार दंपत्ति की तरफ से कहा गया कि हत्या के वास्तविक अपराधियों का पता लगाने में सीबीआइ विफल रही है और सीबीआइ कोर्ट ने कई महत्वपूर्ण साक्ष्यों की अनदेखी की है। तलवार दंपत्ति के खिलाफ आरोपों की साक्ष्यों से पूरी तरह से पुष्टि नहीं हो सकी है। सीबीआइ की तरफ से कहा गया कि तलवार दंपत्ति के खिलाफ परिस्थिति जन्य साक्ष्य इतने पर्याप्त है जिससे इन पर आरोप की पुष्टि होती है। दोनों पक्षों की लंबी बहस के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित कर लिया।

19
May

आसाराम को फिर झटका, नहीं मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत

नई दिल्ली। नाबालिग से दुष्कर्म मामले में सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कथावाचक आसाराम को राहत देने से इन्कार कर दिया। मामले की अगली सुनवाई अब 3 जुलाई को होगी।

आसाराम ने सुप्रीम कोर्ट से जमानत की अर्जी देने के साथ-साथ अपने ऊपर लगे पॉक्सो एक्ट की धारा 5पी को खत्म करने की मांग की थी। इसके साथ ही आसाराम ने पीडि़ता की उम्र जांच तथा क्रॉस बयान को लेकर अर्जी लगाई थी। आसाराम के वकील ने पीड़िता के नाबालिग होने पर सवाल खड़े किए हैं। उनका कहना है कि उसकी जन्मतिथि 1995 है, न कि 1997।

19
May

सोनिया, राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में हुए खराब प्रदर्शन पर विचार करने के लिए सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई। लगभग दो घंटे तक चली इस बैठक के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की। हालांकि कांग्रेस कार्यसमिति ने सोनिया व राहुल गांधी में पूरा भरोसा जताते हुए उनके इस्तीफे की पेशकश को खारिज कर दिया।

बैठक में कांग्रेसी नेताओं ने सामूहिक जिम्मेदारी की बात कही। सीडब्ल्यूसी में सोनिया एवं राहुल के नेतृत्व का प्रस्ताव भी पास किया गया। इससे पहले यह कयास लगाया जा रहा था कि राहुल गांधी हार के मद्देनजर उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे सकते हैं। साथ ही पार्टी के भीतर और बाहर से प्रियंका को लाने की मुखर हो रही आवाजों का उत्तर भी बैठक में तलाशने की बात की जा रही थी।

14
May

नाराजगी की खबरों के बीच सुषमा से मिले भाजपा के आला नेता!

नई दिल्ली। एग्जिट पोल में भाजपा नीत राजग को बहुमत का आंकड़ा मिलने के बाद से ही पार्टी के भीतर अंदरूनी सियासत तेज हो गई है। साथ ही भाजपा नेताओं के एक-दूसरे से मिलने का दौर शुरू हो गया है। इसी कड़ी में बुधवार को दिनभर भाजपा के आला नेताओं ने एक-दूसरे से मुलाकात की। मिल रही जानकारी के मुताबिक भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज पार्टी से नाराज चल रही है। हालांकि उनकी नाराजगी की वजह साफ नहीं हो पाई है। वहीं सुषमा स्वराज ने भोपाल पहुंच कर अपनी नाराजगी की बात से इन्कार करते हुए कहा कि मुलाकात पर अटकलें लगाना गलत है। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह एवं नितिन गडकरी के साथ उनकी मुलाकात शिष्टाचार के नाते थी।

वैसे आज सुबह 11 बजे के करीब सुषमा स्वराज से मिलने पहले नितिन गडकरी पहुंचे। मुलाकात के बाद गडकरी ने कहा कि सुषमा स्वराज नाराज नहीं हैं। गडकरी के जाने के थोड़ी देर बाद दोपहर करीब 12 बजे पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह भी सुषमा स्वराज के घर पहुंचे। दोनों नेताओं की मुलाकात आधे घंटे तक चली।

दोपहर एक बजे के करीब सुषमा स्वराज दिल्ली से भोपाल के लिए रवाना हो गई। इस दौरान उन्होंने मीडिया से कोई बात नहीं की। सुषमा अगर सच में नाराज हैं तो उनकी नाराजगी की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाया है। वैसे सुषमा स्वराज को रक्षा मंत्रालय का जिम्मा देने की संभावना जताई जा रही है।